टिक टोक के पीछे क्यों पड़े है लोग यूटूब vs टिक टोक

दोस्तों आज के समय में पूरा हिन्दुस्तान चाहता है कि टिक टोक नाम कि यह एप्प हमारे इंडिया से पूरी तरह से बाहर हो जाए इसलिए टिक टॉक को  प्ले स्टोर पर जाकर एक रेटिंग दे रहे हैं और टिक टॉक की रेटिंग देखते ही देखते काफ़ी नीचे ला दी है जी हाँ दोस्तों पहले प्ले स्टोर की रेटिंग फ़ाइव स्टार थी लेकिन अब एस आएप की रेटिंग एक की हो चुकी है.

टिक टोक के पीछे क्यों पड़े है लोग यूटूब vs टिक टोक 1

अगर इतने जोश इन्होने सरकार से सवाल करने में बिताये होते तो इतनी तादात में मजदूर न मरते और न हे उनको इतनी परेसनियो का सामना करना पड़ता खैर छोडिये आईये आज के टॉपिक यूटूब vs टिक टोक के बारे में बात करते है जिसको लोग एक धंधा बना चुके है .

टिक टोक की रेटिंग धरा धर गिरती ही जा रही है

वन पॉइंट थ्री स्टार से की लेकिन दोस्तों आने वाले समय में अगर टिकटोक एक स्टार पर चली जाएगी तो इस एप्प को काफी नुक्सान होगा दोस्त तो आपको बता दें कि जब भी प्ले स्टोर पर किसी ऐप की १ स्टार रेटिंग हो जाती है अक्सर प्ले स्टोर उस ऐप को अपने प्लेटफ़ॉर्म से हटा देता है हालाँकि दोस्त तो इश ऐप को किस तरह हटाया जाए वो मैं आपको बाद में एक्सप्लेन करूँगा सबसे पहले तो दोस्त तो आपको बता दूँ कि सभी इंडियंस मिलकर इस ऐप को 1 स्टार की रेटिंग क्यों दे रहे हैं दोस्त तो सबसे पहला रीज़न तो ये है कि कैरी मिनटी का विदेओ जो कोंटेंट में चला था जिसके बाद टिकटोकेर के चलते यूतुब से हटाया गया उसके बाद है कैरी मिनती के फैस ने अपना पूरा ग़ुस्सा टिक टॉक पर निकाला है जिससे टॉप के रेटिंग दिन भर दिन गिरती जा रही है.

टिक टोक को बैन करने के लिए ये न्यूज़ व्हात्सप्प पर चलायी जा रही है

दोस्त तो आपको बता दूँ कि अगर टिक टॉक की रेटिंग 1 स्टार हो जाएगी तो गूगल टॉक को एक मैसेज करेगा और कहेगा कि अगर आपने 1 मंच से पहले जो आपके अपना प्रॉब्लम वारियर्स को सॉल्व नहीं किया तो आपका अब परमानेंट लीग बेन हो जाएगा प्ले स्टोर से हटा दिया जाएगा आधा दोस्त तो आप प्रवक्ता दूँ की टॉप बार बाहर तीळ अश्लील वीडियो बन रहे हैं छोटे छोटे बच्चों पर बहुत ही बुरा प्रभाव पड़ रहा है जिसके कारण टिक टॉक की रेटिंग दिन भर दिन गिरती जा रही है अदा टिक टॉक ने अगर एक महीने में अपनी रेटिंग है कि स्टार से आगे नहीं बढ़ायी दो टॉप पर मानेंगी बैन हो जाएगा और दोस्त तो अगर आपने अभी तक कट्टा को रेटिंग में भी यह तो आप प्ले स्टोर पर जाएं और उस को रेटिंग दें अता हमें बताया कि आपने कितनी रेटिंग दी है १स्टार दो स्टार थ्री स्टार या फ़ोरेस्टर साथ ही साथ दोस्त तो आपको बता दूँ कैप्टन तरफ़ जाने से भारत को बहुत ही ज़्यादा लाभ होगा क्योंकि टेस्ट ड्रॉ एक चाइनीज़ ऐप है जिससे के टॉप जितना भी ज़्यादा घायल हो रहा है उससे चाइना नाकों पहुँचती ज़्यादा फ़ायदा हो रहा है और लोगों को दिन भर दें टॉप का नशा होता जा रहा है जिससे के लोगों की टॉप के लिए कुछ भी कर सकते हैं.

अब हाली में फ़ैसल सिद्दीक़ी ने एक बहुत ही दर्दनाक वीडियो डाला था जिससे भी देश के युवाओं को ब्राउज भी ग़लत संदेश मिलाऔर फ़ैसल सिद्दीक़ी ने टिक टॉक का ग़लत इस्तेमाल किया है जिसके कारण लोगों को सट्टा पर दिन भर दिन बढ़ता ही जा रहा है लोक एक टॉप पर है दिन भर ग़लत वीडियो देखकर के उन पर ग़लत प्रभाव पड़ रहा है अतः उनके बच्चे दिन भर दिन टॉप के चक्कर में एक नया जुर्म को बढ़ावा दे रहे हैं जैसे की फ़ैसल सिद्दीक़ी ने वीडियो बनाया था आप लोगों ने देखा ही था और भी ग़लत वीडियो जिससे लोगों पर बहुत ग़लत प्रभाव पड़ा और लोग ये बीमारी से ग्रसित होते जा रहे tiktok के कारण कथा भाइयों बहनो सबसे निवेदन है कि आप जाकर टिक टॉक पर अपनी रेटिंग दें जिससे के टॉप जल्द ही बैन हो जाएं क्योंकि लोगों पर बहुत ही बुरा असर पर लैपटॉप कठिन बदन टिक टॉक कुछ न कुछ नया कार्ड कर रहा है जिससे की लोगों के आम ज़िंदगी पर बहुत ही ज़्यादा प्रभाव पड़ रहा है और लड़कियों के साथ भी पहुँचती ज़्यादा बेसार मैं की तरह लोग पेश आ रहे हैं tiktok के कारण अपना सब लोग जल्दी से जल्दी जाना और टॉप पर अपना रेटिंग दें जाकर जिससे की टिक टॉक जल्द ही भारत से निकल जाए तीळ 8 डॉक्टर निकलते ही भारत को बहुत ही ज़्यादा फ़ायदा होने वाला है.

 

लोगों का मनोरंजन का प्लेटफ़ॉर्म टॉप मगर दिन बातें ग़लत डॉक मिलकर उसमें ग़लत वीडियो बना रहे जिससे की लोगों को बोहोत ज़्यादा दिक्कतें उठानी पड़ रही है लोगों पर ग़लत ग़लत संदेश जा रहे हैं जाइयो रेटिंग के जेट्टा पर जाकर टिकटोक जल्द से जल्द भारत में बैन होना चाहिए अगर दी गई जानकारी से आप संतुष्ट धन्यवाद और ज़्यादा से ज़्यादा लोगों में यह पोस्ट शेयर कीजिए जिससे की टिकटोक बैन हो जाए आगे भी मैं जानकारी देता रहूंगा धन्यवाद.

 

यूटूब vs टिक टोक के इस वायरल मेस्सेज की सच्चाई क्या है 

हा ये सच है की जब भी कोई एप्प को कम रेटिंग दी जाती है तो प्ले स्टोर उसपे सख्त कार्यवाही करता है मगर टिक टोक का मामला अलग है टिक टोक खुद में ही एक ब्रांड है जिसने बाकि प्लेटफार्म के मुकाबले तहलका मचा दिया है टिक टोक को बैन करने के लिए बहुत बार केस हुआ है और एक बार बैन भी हुआ है मगर पूरी तरह टिक टोक को इंडिया से हटाना इतना आसन भी नही है सब को पता है ये एक चाइना की कम्पनी है और हम हिन्दुस्तानी को इससे उपयोग नही करना चाहिए मगर इसके बारे में फैसला कौन करेगा यक़ीनन हमारे कानून को ही ये फैसला लेना है.

 

यूटूब vs टिक टोक कौन सही है 

न कोई गलत है और न कोई सही है जब इल्विश यादव ने विडियो बनायीं तो वो ये भूल गया की वो भी एक कंटेंट क्रिएटर है छोटे बड़े सबकी इज्जत इज्जत होती है उसने अपने विडियो में रांड शब्द का उपयोग किया टिक टोकर के लिए जिसको बाद ये उसके फैन ने ये कह कर टाल दिया की नही ये तो उसकी लैंग्वेज ही अलग है और बाद में कैर्री ने भी अपने विडियो में गलियों का उपयोग किया जैसे मीठा शब्द का जिसके लिए इनको सजा भी मिली सबकी विडियो यूटूब से डिलीट कर दिया गया अब कौन सही है और कौन गलत इसका अंदाजा आप खुद ही लगा लीजिए.

 

यूटूब vs टिक टोक के नाम पर धंधा किया जा रहा है

आज के ज़माने में लोग फेमस होने के लिए अच्छा नाम कमाने के लिए क्या कुछ नही करते है ऐसा हे कुछ आज कल हो रहा है जब से मार्केट में टिक टोक vs यूटूब आया है बहुत से लोगो को मसाला मिल गया है लोगो को बेवकूफ बना कर पैसा कमाने के लोग इस टॉपिक पर धरा धर विडियो बना रहे है इस मामले को और आगे ले जाना चाहते है.

हमें इन सब से दूर रहना चाहिए किसी भी अफवाह पर ध्यान नही देना चाहिए अगर टिक टोक को बैन करना होगा तो वो कोर्ट कर देगी टिक टोक के नाम पे अपने ही भाइयो को गली देना या सुनना दोनों ही गलत है .

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here